लैंग्वेज एक्सपर्ट बनकर संवारें कॅरियर

बतौर लैंग्वेज एक्सपर्ट कैंडिडेट अपने कॅरियर की शुरुआत एक इंटरप्रेटर, ट्रांसलेटर या लैंग्वेज एक्सपर्ट के तौर पर भी कर सकते हैं। लैंग्वेज पर बेहतर पकड़ रखने वाले कैंडिडेट ब्रांड स्पेशलिस्ट बनने के अलावा टूर- ट्रैवल गाइड के तौर पर कॅरियर संवार तरक्की कर सकते हैं। पिछले कुछ समय में चुनिंदा भाषाओं का दायरा बढ़ा है।

इसकी एक बड़ी वजह है विदेश में जाकर नौकरी करने वाली संख्या में इजाफा होना। इसके लिए वो खुद को तैयार कर रहे हैं। विदेश जाने के लिए अब सिर्फ अंग्रेजी पहली प्राथमिकता नहीं है। इसकी जगह स्पेनिश के साथ दूसरी भाषाएं ले रही हैं। कंपनियां ऐसे कैंडिडेट्स को मौके दे रही हैं, जिन्हें अधिक भाषाओं का ज्ञान है।

यह डिमांड सीधे तौर पर लैंग्वेज एक्सपर्ट्स के लिए वरदान बन रही है। इसे दो तरह से समझ सकते हैं। पहला, अतिरिक्त लैंग्वेज सीखकर आप अपनी स्किल में इजाफा कर सकते हैं।

इसके साथ ही आप लैंग्वेज एक्सपर्ट बनकर भी नौकरी कर सकते हैं। लैंग्वेज एक्सपर्ट की डिमांड सिर्फ देश में ही नहीं विदेश में भी है। ट्रेंड को समझेंगे तो पाएंगे कि अब युवा इसकी तैयारी में रुचि ले रहे हैं। ऐसे में लैंग्वेज एक्सपर्ट बनकर अपना कॅरियर संवार सकते हैं। जानिए, कैसे लैंग्वेज एक्सपर्ट बनें और अपने कॅरियर को उड़ान दें।

किन भाषाओं की बढ़ रही है मांग

विशेषज्ञ कहते हैं वर्तमान में स्पेनिश, कोरियन, जर्मन और जापानी भाषा से जुड़े एक्सपर्ट की डिमांड बढ़ रही है। इसके अलावा चीनी भाषा यानी मंदारिन, अरबी, फ्रेंच भी युवाओं का ध्यान अपनी ओर खींच रही हैं। कई कंपनियां अपने यहां सीधे तौर पर लैंग्वेज एक्सपर्ट के पद पर भर्ती कर रही हैं।

इसके अलावा ट्रांसलेटर के तौर पर भी भर्तियां करती हैं। खास बात यह है कि कई कंपनियां इसके लिए ऑफिस आने की बाध्यता भी नहीं तय करतीं। यानी नौकरी को घर से ही किया जा सकता है।

मिलती है प्राथमिकता

एक सर्वे के मुताबिक कंपनियां कैंडिडेट को रखते समय उसमें विशेष स्किल को देखती हैं। ऐसे में आपको एक अतिरिक्त लैंग्वेज आने से आपको प्राथमिकता मिल सकती है।

इसके अलावा गूगल, ऐपल और माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनियां अपने यहां ब्रांड स्पेशलिस्ट की भर्तियां करती हैं। गौरतलब है इस पद पर होने वाली भर्ती के लिए कंपनियां बड़ी सैलरी ऑफर करती हैं।

यहां हैं संभावनाएं

किसी एक लैंग्वेज में स्पेशलाइजेशन हासिल करते हैं, तो इंटरप्रेटर और ट्रांसलेटर के तौर पर भी काम करने का मौका मिलता है। ये एक्सपर्ट कई तरह से काम करते हैं। जैसे- मान लीजिए आपने स्पेनिश सीखी है, तो आपको स्पेन के क्लाइंट से बात करनी होगी। उसकी जरूरतों को समझना होगा।

वो किन चीजों में सुधार करना चाहता है, यह भी जानना होगा। इन सभी बातों को कंपनी तक पहुंचाना आपकी जिम्मेदारी का हिस्सा है। इस तरह कंपनियां विदेशी क्लाइंट के जरिए बिजनेस को बढ़ाती हैं।

इंटरनेशनल रिलेशंस समेत कई सेक्टर में हैं अच्छे मौके

बतौर लैंग्वेज एक्सपर्ट, आपको इंटरनेशनल रिलेशंस से लेकर हॉस्पिटैलिटी तक मौके ही मौके मिलते हैं। कई कंपनियां अपने मैनेजमेंट डोमेन में अलग-अलग भाषाओं के जानकारों को रखती हैं। इनकी भाषा को विशेष स्किल के तौर पर देखा जाता है। इसके अलावा टूर गाइड और ट्रैवल एडवाइजर के तौर पर भी इन्हें कंपनियों में मौके मिलते हैं जो पर्यटन से जुड़ी हुई हैं।

इसके साथ ही भाषाओं पर बेहतर पकड़ रखते हैं तो इंटरनेशनल रिलेशंस के सेक्टर में भी कॅरियर की शुरुआत कर सकते हैं। अगर आप इंटरनेशनल रिलेशंस में ग्रेजुएशन या पीजी कर चुके हैं तो यहां पर आपको प्राथमिकता मिलती है।

इस तरह लैंग्वेज एक्सपर्ट बनकर कई अलग- अलग क्षेत्रों में आपको मौके मिलते हैं। ध्यान रखने वाली बात है कि कई बार ऐसे एक्सपर्ट की डिग्री भी देखी जाती है, इसलिए इसे किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से ही करें।

लैंग्वेज एक्सपर्ट

लैंग्वेज एक्सपर्ट बनने के लिए जरूरी हैं ये स्किल्स

लैंग्वेज एक्सपर्ट के तौर पर काम करने के लिए आपको कुछ जरूरी स्किल्स का भी विकास करना चाहिए। इनमें शामिल हैं:

संचार स्किल्स: लैंग्वेज एक्सपर्ट के तौर पर आपको अपनी बात को स्पष्ट और प्रभावी ढंग से कहने में सक्षम होना चाहिए। इसके लिए आपको मौखिक और लिखित संचार कौशलों का विकास करना चाहिए।

समाधान-उत्तम सोच: लैंग्वेज एक्सपर्ट के तौर पर आपको अक्सर जटिल समस्याओं को हल करना पड़ता है। इसके लिए आपको समाधान-उत्तम सोच का विकास करना चाहिए।

समझदारी: लैंग्वेज एक्सपर्ट के तौर पर आपको विभिन्न संस्कृतियों और भाषाओं को समझने में सक्षम होना चाहिए। इसके लिए आपको समझदारी का विकास करना चाहिए।

लैंग्वेज एक्सपर्ट बनने के लिए जरूरी है अभ्यास

लैंग्वेज एक्सपर्ट बनने के लिए सिर्फ भाषा सीखना ही पर्याप्त नहीं है। इसके लिए आपको लगातार अभ्यास करना चाहिए। आप भाषा का अभ्यास करने के लिए विभिन्न तरीकों का उपयोग कर सकते हैं। जैसे:

अन्य लोगों से बात करना: भाषा का अभ्यास करने का सबसे अच्छा तरीका है अन्य लोगों से बात करना। आप अपने दोस्तों, परिवार के सदस्यों या किसी भी अन्य व्यक्ति से बात करके भाषा का अभ्यास कर सकते हैं।

पुस्तकें और लेख पढ़ना: भाषा का अभ्यास करने का एक और अच्छा तरीका है पुस्तकें और लेख पढ़ना। इससे आपको भाषा की नई शब्दावली और वाक्य रचना सीखने में मदद मिलेगी।

फिल्में और टीवी शो देखना: भाषा का अभ्यास करने का एक और मनोरंजक तरीका है फिल्में और टीवी शो देखना। इससे आपको भाषा का उच्चारण और लहजा सीखने में मदद मिलेगी।

लैंग्वेज एक्सपर्ट बनने के लिए जरूरी हैं ये योग्यताएं

लैंग्वेज एक्सपर्ट बनने के लिए सबसे जरूरी योग्यता है उस भाषा का ज्ञान, जिसमें आप स्पेशलाइजेशन हासिल करना चाहते हैं। इसके लिए आपको उस भाषा की व्याकरण, वाक्य रचना, शब्दावली और उच्चारण पर अच्छी पकड़ होनी चाहिए। इसके अलावा, आपको उस भाषा के संस्कृति और इतिहास के बारे में भी जानकारी होनी चाहिए।

लैंग्वेज एक्सपर्ट बनने के लिए उपलब्ध हैं ये विकल्प

लैंग्वेज एक्सपर्ट बनने के लिए कई विकल्प उपलब्ध हैं। आप किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से भाषा की पढ़ाई कर सकते हैं। इसके अलावा, आप ऑनलाइन प्लेटफॉर्म या प्राइवेट ट्यूटर से भी भाषा सीख सकते हैं।

लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए हैं कई अवसर

लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए कई अवसर उपलब्ध हैं। आप किसी कंपनी में लैंग्वेज एक्सपर्ट के तौर पर काम कर सकते हैं। इसके अलावा, आप स्वतंत्र रूप से भी काम कर सकते हैं। लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए कई क्षेत्रों में भी काम के अवसर उपलब्ध हैं। जैसे:

अंतरराष्ट्रीय व्यापार

पर्यटन

शिक्षण

अनुवाद

सॉफ्टवेयर विकास

लैंग्वेज एक्सपर्ट

लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए है अच्छी सैलरी

लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए अच्छी सैलरी मिलती है। अनुभव और कौशल के आधार पर लैंग्वेज एक्सपर्ट की सैलरी 50,000 रुपये से लेकर 1 लाख रुपये प्रति माह तक हो सकती है।

लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए है उज्ज्वल भविष्य

विश्वीकरण के कारण लैंग्वेज एक्सपर्ट के लिए भविष्य उज्ज्वल है। क्योंकि, अब कंपनियां विदेशी बाजारों में विस्तार करने के लिए लैंग्वेज एक्सपर्ट्स को नियुक्त कर रही हैं। इसके अलावा, पर्यटन क्षेत्र में भी लैंग्वेज एक्सपर्ट्स की मांग बढ़ रही है।

भाषा विशेषज्ञ के रूप में करियर चुनौतीपूर्ण लेकिन बेहद फायदेमंद हो सकता है। यह उन लोगों के लिए एक आकर्षक विकल्प है जो भाषाओं के प्रति जुनून रखते हैं, विभिन्न संस्कृतियों के बारे में उत्सुक हैं और वैश्विक स्तर पर प्रभाव डालना चाहते हैं। लगातार सीखने की इच्छा, मजबूत कौशल और लचीलेपन के साथ, भाषा विशेषज्ञ एक सफल और संतोषजनक करियर बना सकते हैं।

हाई स्कूल Entrepreneurship, कॉलेज से निजी जिंदगी तक बनाती है सफल

Leave a Comment